Ratna

रत्न (Gemstone)

रत्नों के संबंध में।

रत्नों का हमारे जीवन पर बहुत ही गहरा प्रभाव पड़ता है ग्रहों की शुभता को बढ़ाने तथा अशुभता को कम करने के लिए धारण किया जाता है रत्न जितना अधिक हमारे जीवन के लिए लाभदायक है उतना ही नुकसानदायक भी हैं अगर बिना सलाह तथा अभिमंत्रित के इन रत्नों को धारण करते हैं अतः आप किसी विशेषज्ञ की सलाह से ही इन रत्नों को धारण करें तथा हम आपको बताएंगे रत्नों के प्रकार

माणिक्य (Ruby)

माणिक्य रत्न सूर्य ग्रह के बल को बढ़ाने लिए धारण किया जाता है जिन भी लोगों की जीवन में आत्मविश्वास की कमी होती है उन व्यक्तियों को माणिक्य रत्न पहनने से बहुत अधिक लाभ प्राप्त होता है इस रत्न का रंग गुलाबी होता है इस रत्न को सोने तांबे अथवा पंचधातु में किसी विशेषज्ञ की सलाह से आप रविवार के दिन अनामिका उंगली में धारण कर सकते हैं

हीरा (Diamond)

डायमंड रत्न शुक्र ग्रह के बल को बढ़ाने के लिए पहना जाता है इस रत्न को हम शुक्रवार के दिन धारण करते हैं इसका मुख्य रंग सफेद होता है इसके अलावा यह दूसरे रंगों में भी प्राप्त होता है इस का उपरत्न ओपल होता है तथा डायमंड या ओपल रत्न को हम अनामिका उंगली में धारण कर सकते हैं विधि-विधान करने के बाद ही इस रत्न को धारण करें

पन्ना (Emerald)

पन्ना रत्न बुध ग्रह की शुभता को बढ़ाने के लिए धारण किया जाता है इस रत्न को हम बुधवार के दिन मुहूर्त के अनुसार धारण कर सकते हैं इस रत्न को हम कनिष्ठा उंगली में भी धारण करना चाहिए इस का उपरत्न ओनेक्स होता है तथा चांदी की धातु में इसको धारण कर सकते हैं

नीलम (Blue sapphire)

नीलम रत्न शनि ग्रह की शुभता बढ़ाने तथा अशुभता घटाने के लिए धारण किया जाता है यह एक ऐसा रत्न है क्योंकि किसी जातक के लिए हितकर हो जाए तो उसकी लाइफ भी बना देता है किंतु इसके विपरीत अगर बिना किसी विशेषज्ञ की सलाह के धारण किया जाए तो इसके नकारात्मक परिणाम भी मिल सकते हैं इस का उपरत्न नीली रत्न होता है तथा इस रत्न को हमें शनिवार के दिन शनि के होरा में धारण करना चाहिए इस रत्न को हमें मध्यमा उंगली में सोने में तथा पंचधातु में धारण कर सकते हैं

मोती (Pearl)

मोती रत्न को हम चंद्र ग्रह के लिए धारण करते हैं जिसको धारण करने से मन मस्तिक शांत रहता है तथा यह रत्न सोमवार के दिन विधिवत तरीके से कनिष्ठा उंगली में धारण करें

मूंगा (Red Coral)

मूंगा रत्न मंगल ग्रह को प्रभावी बनाने के लिए धारण किया जाता है यह रत्न सफेद तथा लाल रंग का होता है मूंगा रत्न को मंगलवार के दिन धारण किया जाता है इस रत्न को आप सोने तथा पंचधातु में अपनी अनामिका उंगली में विधि विधान के अनुसार धारण कर सकते हैं

पुखराज (Sapphire)

पुखराज पीले तथा सफेद रंग का होता है यह बृहस्पति ग्रह के लिए धारण किया जाता है इसका उपरत्न सुनहला होता है इस रत्न को आप गुरुवार के दिन सोने में विधिवत तरीके से धारण कर सकते हैं

गोमेद (Hessonite)

गोमेद रत्न राहु (जो की छाया ग्रह माना गया है )के लिए धारण किया जाता है राहु के दुष्प्रभाव को कम करने के लिए इस रत्न का प्रयोग किया जाता है इसका रंग हल्का भूरा होता है तथा शनिवार के दिन इस रत्न को मध्यमा उंगली में विधिवत पूर्वक धारण कर सकते हैं

लहसुनिया (Cats eye)

लहसुनिया रत्न केतु (जो कि एक छाया ग्रह है )के लिए धारण किया जाता है यह रत्न हम शनिवार को मध्यमा उंगली में विशेषज्ञ की सलाह से धारण कर सकते हैं