Kundali

Kundali

Kundali

मेष राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपके षष्ठम भाव में होगा और इसके बाद सप्तम, अष्टम और नवम भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर भी इस सप्ताह आपकी राशि से तृतीय भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से षष्ठम भाव में गोचर करेंगे, उस वक़्त आपको कमज़ोर स्वास्थ्य के चलते बीमारियों से परेशानी उठानी पड़ सकती है। इस समय अपने शत्रु पक्ष को नज़रअंदाज़ न करें क्योंकि शत्रुओं और विरोधियों के प्रबल होने के योग बन रहे हैं। छात्रों के लिए इस समय प्रतियोगी परीक्षा में सफलता पाने के लिए कठिन पने की संभावना भी है। हालांकि इस भाव के बाद चन्द्रमारिश्रम आवश्यक होगा अन्यथा फल अशुभ मिल सकते हैं। इस सप्ताह कुछ हद तक आपके अवांछित खर्च हो आपकी राशि के सप्तम भाव में गोचर कर जाएगा जिससे आपके जीवन में कुछ स्थिति ऊपर-नीचे वाली बनती दिखाई देगी। इस समय जीवन के कई क्षेत्रों में आपको परिश्रम करना होगा। जैसे दांपत्य जीवन में तो मधुरता रहेगी जिससे आप अपने जीवन साथी के प्रति समर्पण रखेंगे, लेकिन इस समय उनका स्वास्थ्य खराब होने के चलते ये मधुरता आपको थोड़े ही समय मिल पाएगी। इस समय आपके हुआ पाबेवजह के खर्चे भी बढ़ेंगे जिससे आपको आर्थिक तंगी महसूस हो सकती है। हालांकि चंद्र देव जब आपके अष्टम भाव में होंगे तो आप कई दुविधाओं में खुद को घिरा सकते हैं। क्योंकि इस वक़्त स्वास्थ्य कमजोर होने से आप अपने काम में केंद्रित नहीं हो पाएंगे। ऐसे में ठीक स्वास्थ के लिए जितना मुमकिन हो खराब भोजन और दूषित जल पीने से अपना बचाव करें, क्योंकि यही कारण होंगे आपकी कमज़ोर सेहत के। इसके अलावा पारिवारिक जीवन यानी कुटुंब में किसी बात को लेकर अन-बन होने से भी आप परेशान रहेंगे।

वृष राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपके अष्टम भाव में होगा और इसके बाद नवम, दशम और एकादश भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर आपकी राशि से पंचम भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में चंद्र देव आपकी राशि से अष्टम भाव में गोचर होंगे। इस भाव से हम जीवन में आने वाले उतार चढ़ावों और अचानक से होने वाली घटनाओं के बारे में विचार करते हैं। इस भाव में चंद्र के गोचर के दौरान आपको यात्रा पर जाना पड़ सकता है और संभावना है कि आपको इस यात्रा से कष्ट हो। इस समय आपके मानसिक तनाव में भी अचानक से वृद्धि हो सकती है और यही तनाव आपको स्वास्थ्य संबंधित कोई समस्या दे सकता है। इस समय आपका अपने भाई-बहनों से भी संबंधों में कोई परेशानी आ सकती है, इसलिए सावधान रहें। हालांकि इसके बाद नवम भाव में चंद्र के गोचर के दौरान आपको यात्राओं से आनंद आएगा। आपको अच्छी-अच्छी जगहों पर अपने करीबियों संग जाने का मौका मिलेगा। आप इस समय अपने सकारात्मक प्रयासों से अपने मान-सम्मान में वृद्धि करा पाने में कामयाब होंगे। जिसके चलते समाज के बीच आपकी स्थिति सुधरेगी और ये बदलाव आपको अच्छा लगेगा। सप्ताह के मध्य में चंद्र देव आपके दशम भाव में होंगे। इस भाव में चंद्र के गोचर के दौरान आपको अपने कार्य स्थल पर अपनी मेहनत के चलते सहकर्मियों का सहयोग मिलेगा।इसके अलावा जो लोग व्यापार करते हैं उन्हें भी अपने व्यापार में अपने परिवार का इस समय सहयोग मिलेगा जिससे उन्हें लाभ भी पहुँचेगा। हालांकि आपके पारिवारिक जीवन के लिए ये समय उतार-चढ़ाव से परिपूर्ण रहने की उम्मीद है। इसलिए ज़रूरत पड़ने पर उन्हें अपना समय देते रहें। सप्ताह के अंत में चंद्र देव आपके एकादश भाव में होंगे। इस भाव को लाभ भाव भी कहा जाता है, इस भाव में चंद्र के संचरण के दौरान आपके अपने भाई-बहनों से संबंधों में मधुरता आएगी। आपके कार्य क्षेत्र में भी आपको आमदनी में बढ़ोतरी नज़र आएगी। आपकी कई महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति होगी, साथ ही प्रेम संबंधों में भी आपको सफलता मिल पाएगी। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपके पंचम भाव में होगा वहीं बुध देव भी आपके इसी भाव में गोचर करेंगे जिससे आपको उन्नति की प्राप्ति होगी, क्योंकि ये गोचर आपके लिए अच्छा साबित होगा। इस गोचर से छात्रों को उनकी शिक्षा में मेहनत के अच्छे फलों की प्राप्ति भी होगी। यदि प्रेम में हैं तो प्रेमी जातकों के लिए ये समय बेहद उत्तम रहने वाला है। कार्य स्थल पर भी आपकी आमदनी में इज़ाफा देखा जाएगा, कुल मिलाकर देखा जाए तो ये गोचर आपके लिए सबसे अच्छा रहेगा।

मिथुन राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपके सप्तम भाव में होगा और इसके बाद अष्टम, नवम और दशम भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर आपकी राशि से चतुर्थ भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में चंद्र देव आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर होंगे। इसलिए यह सप्ताह आपके लिए मिला जुला रहने की उम्मीद है। इस भाव से जीवन में होने वाली साझेदारियों के बारे में पता चलता है। ऐसे में इस दौरान आपको अपने दांपत्य जीवन में तनाव देखने को मिलेगा। साथ ही ये समय आपको और आपके जीवन साथी को स्वास्थ्य कष्ट भी प्रदान करें। हालांकि व्यापारियों को अपने व्यापार में कुछ समस्या आ सकती है, इसलिए इस समय ध्यान पूर्वक ही हर प्रकार का लेन-देन करें अन्यथा धन हानि के योग बन रहे हैं। इसके बाद जब चंद्र देव आपके अष्टम भाव में गोचर करेंगे तो आपको मानसिक तनाव होगा। हालांकि शुरुआत में धन की समस्या महसूस होगी लेकिन बाद में धन अचानक से अलग-अलग स्रोतों से आने का योग बन रहा है। हालांकि आपके पिता जी को स्वास्थ्य समस्या हो सकती है, जिससे आप भी कुछ हद तक परेशान रहेंगे। इसके बाद सप्ताह के मध्य में नवम भाव में चंद्र के गोचर के दौरान आपकी किसी यात्रा पर जाने की संभावना बन रही है। इस दौरान आपका अच्छा खासा धन भी खर्च होगा। ग़ौरतलब है कि यात्रा के दौरान आपको कुछ अच्छे अनुभवों की प्राप्ति भी होगी लेकिन इस समय आपके भाई बहनों को समस्या आ सकती है। सप्ताह के अंत में चंद्र देव आपके दशम भाव में होंगे। इस भाव को कर्म भाव के नाम से भी जाना जाता है, इस समय आपको अपने कार्य क्षेत्र में सफलता मिलेगी। वहीं ये समय सरकारी और मैनेजमेंट क्षेत्र के लोगों के लिए अच्छा रहेगा क्योंकि इस समय उन्हें लाभ मिलने के योग बन रहे हैं। इस समय संभावना है कि आप कही पूंजी निवेश करें, इसलिए यदि इस बारे में पूर्व में विचार कर रहे थे तो ये समय इसके लिए अच्छा है। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपके चतुर्थ भाव में होगा वहीं बुध देव भी आपके इसी भाव में गोचर करेंगे जिससे आपके घर-परिवार में कोई फंक्शन या छोटा-बड़ा आयोजन हो सकनता है। आप इस समय घर की साज-सज्जा पर भी अपना ध ख़र्च करेंगे। इस दौरान आयोजन से परिवार में खुशहाली आएगी। कार्य क्षेत्र में भी अच्छा प्रदर्शन तारीफे काबिल होगा। जिससे मन ख़ासा प्रसन्न रहेगा।

कर्क राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपके षष्ठम भाव में होगा और इसके बाद सप्तम, अष्टम और नवम भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर भी इस सप्ताह आपकी राशि से तृतीय भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से षष्ठम भाव में गोचर करेंगे, उस वक़्त आपको कमज़ोर स्वास्थ्य के चलते बीमारियों से परेशानी उठानी पड़ सकती है। इस समय अपने शत्रु पक्ष को नज़रअंदाज़ न करें क्योंकि शत्रुओं और विरोधियों के प्रबल होने के योग बन रहे हैं। छात्रों के लिए इस समय प्रतियोगी परीक्षा में सफलता पाने के लिए कठिन पने की संभावना भी है। हालांकि इस भाव के बाद चन्द्रमारिश्रम आवश्यक होगा अन्यथा फल अशुभ मिल सकते हैं। इस सप्ताह कुछ हद तक आपके अवांछित खर्च हो आपकी राशि के सप्तम भाव में गोचर कर जाएगा जिससे आपके जीवन में कुछ स्थिति ऊपर-नीचे वाली बनती दिखाई देगी। इस समय जीवन के कई क्षेत्रों में आपको परिश्रम करना होगा। जैसे दांपत्य जीवन में तो मधुरता रहेगी जिससे आप अपने जीवन साथी के प्रति समर्पण रखेंगे, लेकिन इस समय उनका स्वास्थ्य खराब होने के चलते ये मधुरता आपको थोड़े ही समय मिल पाएगी। इस समय आपके हुआ पाबेवजह के खर्चे भी बढ़ेंगे जिससे आपको आर्थिक तंगी महसूस हो सकती है। हालांकि चंद्र देव जब आपके अष्टम भाव में होंगे तो आप कई दुविधाओं में खुद को घिरा सकते हैं। क्योंकि इस वक़्त स्वास्थ्य कमजोर होने से आप अपने काम में केंद्रित नहीं हो पाएंगे। ऐसे में ठीक स्वास्थ के लिए जितना मुमकिन हो खराब भोजन और दूषित जल पीने से अपना बचाव करें, क्योंकि यही कारण होंगे आपकी कमज़ोर सेहत के। इसके अलावा पारिवारिक जीवन यानी कुटुंब में किसी बात को लेकर अन-बन होने से भी आप परेशान रहेंगे। सप्ताह के अंत में चंद्र देव आपकी राशि से नवम भाव में गोचर करेंगे, इस समय आप हालातों को सुधारने की प्रक्रिया में लगे रहेंगे। जिसके चलते खुद को अच्छा महसूस कराने के लिए आप किसी धार्मिक अथवा रोमांटिक स्थल की सैर पर जाने का प्लान बना सकते हैं। इस समय आपके प्रयासों से आपको अपने भाग्य का पूरा साथ मिलेगा जिससे आपका खराब स्वस्थ भी पहले से सुधरता दिखाई देगा। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपके तृतीय भाव में होगा वहीं बुध देव भी आपके इसी भाव में गोचर करेंगे जिससे ख़ास तौर से मीडिया, लेखन, पत्रकारिता और अभिनय के क्षेत्र से जुड़े लोगों को विशेष लाभ मिलता दिखाई देगा। आप इस समय अपनी किसी हॉबी को विकसित करने की दिशा में कार्य कर सकते हैं। आपको अपने दोस्तों व मित्र मंडली में समय बिताने का मौका मिलेगा जिससे आप पूर्व की कुछ खट्टी-मीठी यादों को दोबारा जी पाएंगे।

सिंह राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपके पंचम भाव में होगा और इसके बाद षष्ठम, सप्तम और अष्टम भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर भी इस सप्ताह आपकी राशि से द्वितीय भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से पंचम भाव में गोचर करेंगे, उस वक़्त आपको अपने प्रेम संबंधों में अपने-अपने अहम का टकराव और तनाव महसूस होगा। इस समय छात्रों को भी अपनी शिक्षा में रुकावटों का सामना करना पड़ सकता है। दांपत्य जीवन में आपकी संतान पक्ष को कष्ट हो सकता है क्योंकि उन्हें कुछ परेशानी होने के योग बन रहे हैं। आप यदि अपने कार्य क्षेत्र में तो इस वक़्त उस दिशा में ट्रांसफर चाह रहे थेअपने प्रयास तेज कर लें क्योंकि आपके तबादले या बदलाव की संभावना दिखाई दे रही है। इसके बाद षष्ठम भाव में चंद्र के गोचर के दौरान आपको विदेश जाने का अवसर मिलेगा या किसी कारण वश आपको देश से बाहर जाना पड़ेगा। आपका किसी आवश्यक कार्य पर खर्च बढ़ सकता है। इस समय आपको अपनी सेहत का ध्यान रखना होगा क्योंकि आपको ख़ासी, जुकाम या बुखार होने की संभावना हैं। इसके बाद सप्ताह के मध्य सप्तम भाव में चंद्र का गोचर आपके जीवन के अलग-अलग साझीदारों से आपके संबंधों में खटास लाएगा। क्योंकि संभावना है कि दांपत्य जीवन में आप अपने क्रोधी स्वभाव के कारण किसी समस्या में खुद को फँसा लें। इस कारण आपकी अपने जीवन साथी से नोक-झोंक हो सकती है। हालांकि व्यापारियों को अपने व्यवसाय में सफलता मिल सकती है, लेकिन पार्टनर-शिप के बिज़नेस में लगे लोगों की अपने साझीदार से अन-बन संभव है। इसके बाद सप्ताहांत में अष्टम भाव में चंद्र के गोचर के दौरान आप अपने में कुछ खोए-खोए नजर आएँगे इस समय आपको रक्त संबंधित समस्या परेशान कर सकती है। मन में अवसाद का भाव भी आएगा जिससे मन उदास-उदास रहेगा। ऐसे में इस समय खुद को सकारात्मक रखने के लिए थोड़ा धार्मिक आचरण करना आपके लिए बेहतर होगा। आपका रुझान आध्यात्मिक कार्य में बढ़ सकता हैं जिससे आपकी व्यस्तता इसमें देखे जाने के योग भी बन रहे है। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपके द्वितीय भाव में होगा वहीं बुध के इदेव भी आपसी भाव में गोचर करेंगे जिससे आपके घर-परिवार में कोई शुभ कार्य संपन्न होगा। इस आयोजन के चलते परिवार के लोगों के बीच आपस में प्रेम का भाव दिखेगा। इस समय आप बचत कर पाने में कामयाब होंगे जिससे धन संचय में भी आपको सफलता मिलेगी। आपकी वाणी में मिठास साफ़ देखी जायेगी। घर में कोई फंक्शन का आयोजन होने से मेहमानों का आगमन मुमकिन है।

कन्या राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपके चतुर्थ भाव में होगा और इसके बाद पंचम, षष्ठम और सप्तम भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर भी इस सप्ताह आपकी ही राशि में यानी आपके लग्न या प्रथम भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से चतुर्थ भाव में गोचर करेंगे, उस वक़्त आपको अपनी माता जी की सही देख-भाल सुनिश्चित करनी होगी क्योंकि उनका स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। इस समय आपके पारिवारिक जीवन में घरेलू झगड़े हो सकते है, जिससे आपका मन उदास हो जाएगा। ऐसे में घर-परिवार में भी सुख की कमी महसूस होगी। इसके साथ ही आपके कार्य क्षेत्र में भी उतार-चढ़ाव की संभावना बन रही है, इसलिए सतर्क रहें। इसके बाद पंचम भाव में चंद्र के गोचर के समय आपको अपनी रचनात्मकता को लोगों के सामने प्रदर्शित करने का मौका मिलेगा, जिसके चलते आपकी कुछ इच्छाओं की पूर्ति भी संभव है। इस समय आपकी आमदनी में भी बढ़ोतरी के आसार नज़र आ रहे हैं। दांपत्य जीवन में आप अपनी संतान के प्रति गंभीर दिखेंगे। वहीं छात्रों को भी अपनी शिक्षा में सफलता मिलेगी, इसलिए अपनी मेहनत को ख़ास तौर इस इस वक़्त न रोकें। सप्ताह के मध्य में चंद्रमा आपके षष्ठम भाव में गोचर करेगा इस समय आपको अपनी आमदनी में कमी महसूस होगी। नौकरी पेशा लोग नौकरी के क्षेत्र में अपना सबसे बेहतर प्रदर्शन जारी रखेंगे, लेकिन इस समय किसी कारण वश संभावना है कि आपके अपने वरिष्ठ अधिकारियों से संबंधों पर बुरा असर पड़े। इसलिए कार्य स्थल पर किसी भी अधिकारी से झगड़ा न करें ये आपको भविष्य में नुक्सान पहुँचा सकता है। सप्ताह का अंत सप्तम भाव में चंद्र के गोचर से होगा। इस गोचर काल में व्यापारियों को अपने व्यवसाय में उत्तम लाभ की प्राप्ति होगी, जिससे आपको आर्थिक लाभ मिलेगा और इसी कारण धन लाभ होने से समाज में भी आपके मान-सम्मान की स्थिति बेहतर होगी। समाज के बीच बढ़े सम्मान के चलते अब आप अपनी बातों को सही तरीके से लोगों के बीच रख पाएंगे। दांपत्य जीवन में भी प्रेम की बहार लगी रहेगी और आप साथी से रोमांस करने के अवसर पाने की चाह में कोशिश करते दिखेंगे जिसमें आपको सफलता भी मिलेगी। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपकी ही राशि में हो रहा है वहीं बुध देव भी आपके ही लग्न भाव में इस सप्ताह अपना गोचर करेंगे जिससे आपका मन प्रसन्न चित्त रहेगा। आप अधिकतर समय प्यार मोहब्बत में ही बिताना पसंद करेंगे। इस समय आपको अपने करीबी दोस्तों और अपने प्रियतम से मिलने का मौका मिलेगा। इस दौरान आपके व्यक्तित्व में ग़जब का आकर्षण देखते ही बनेगा।

तुला राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपके तृतीय भाव में होगा और इसके बाद चतुर्थ, पंचम और षष्ठम भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर भी इस सप्ताह आपकी राशि से द्वादश भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से तृतीय भाव में गोचर करेंगे, उस वक़्त आपको कही घर से दूर किसी यात्रा पर जाना पड़ सकता है और ये यात्राएं, ख़ास तौर से छोटी दूरी वाली यात्रा आपके लिए किसी परेशानी का कारण बन सकती है। इस समय आपके भाई-बहनों को भी शारीरिक कष्ट मिल सकता है। आपके प्रयासों में कुछ कमी आएगी, जिसे आपको खुद ही दूर करने की ज़रूरत पड़ेगी। इस वक़्त आप में आलस्य की अधिकता देखी जायेगी और आपका अपने किसी सहकर्मियों से विवाद हो सकता है। इसके बाद चंद्र देव आपकी राशि के चतुर्थ भाव में गोचर कर जाएंगे जिससे आपके पारिवारिक जीवन को लाभ मिलेगा क्योंकि ये समय परिवार के लिए अच्छा साबित होगा। आप इस दौरान घर-परिवार के घरेलू कामकाज पर ध्यान देंगे, साथ ही घर के कुछ ख़र्चों पर भी आप नियंत्रण लगाते हुए धन खर्च कर सकते हैं। इस समय आपका मन अपने कार्य क्षेत्र में भरपूर लगेगा, जिससे आप प्रत्येक कार्य को पूरा कर पाने में सफल भी होंगे। इसके बाद सप्ताह के मध्य में चंद्र देव जब आपकी राशि के पंचम भाव में गोचर कर जाएंगे तब आपको अपने प्रेम संबंधों में तनाव महसूस होगी। इस दौरान घर में विवाद की स्थिति न पैदा होने दें क्योंकि आपके अपने बड़े भाई-बहनों से झगड़े के योग बन रहे हैं। कार्य क्षेत्र में मन को केंद्रित करना होगा क्योंकि संभावना है कि मन उचट सकता है। इसके बाद सप्ताह के अंत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से षष्ठम भाव में विराजमान हो जाएंगे उस वक़्त आपका मन भोग-विलास की चीज़ो में अधिक लगेगा जिससे आपके अंतरंग संबंधों में वृद्धि होगी। हालांकि दांपत्य जीवन में इस समय तनाव बना रहेगा और साथ ही आपके खर्च भी काफी हद तक बढ़े-चढ़े रहेंगे। इसलिए आपको सावधानी पूर्वक चलना होगा। वहीं कार्य क्षेत्र के लिए ये अच्छा समय रहेगा। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपकी राशि से द्वादश भाव में हो रहा है वहीं बुध देव भी आपके इसी भाव में इस सप्ताह अपना गोचर करेंगे जिससे आप अपनी सुख सुविधाओं की चीज़ो पर जमकर खर्च करते नज़र आएंगे। संभावना है कि इस वक़्त आप किसी गुपचुप तरीके से मौज मस्ती भी करें। साथ ही इस दौरान आप किसी नज़दीकी संग किसी यात्रा पर भी जाने का प्लान कर सकते हैं।

वृश्चिक राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपके द्वितीय भाव में होगा और इसके बाद तृतीय, चतुर्थ और पंचम भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर भी इस सप्ताह आपकी राशि से एकादश भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से द्वितीय भाव में गोचर करेंगे, उस वक़्त आपको अपने पारिवारिक जीवन में यानी अपने कुटुंब में विवाद-झगड़े देखने को मिलेंगे। इस समय कुछ भी खाते हुए विशेष सावधानी बरते अन्यथा उल्टे सीधे भोजन से स्वास्थ्य कष्ट हो सकता है। इस समय आपको किसी स्रोत से धन लाभ की संभावना बन रही है। आपको किसी प्रकार की यात्राओं में भी सफलता मिलेगी। इस लिए इन्ही दिशाओं में अपने प्रयास जारी रखें। इसके बाद चंद्र का गोचर तृतीय भाव में होगा, जिस दौरान आपके साहस और पराक्रम में कमाल की वृद्धि देखने को मिलेगी। आप इस समय अवसर का फायदा उठाते हुए नए कार्यों को करने का प्रयास करते नज़र आएंगे। आप अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए अपने पिता का समर्थन भी करेंगे जिससे आपकी छवि को भी फायदा पहुंचेगा। साथ ही छोटे भाई-बहनों से भी इस वक़्त आपको अच्छा लाभ हो सकता है। सप्ताह के मध्य में चंद्र का गोचर चतुर्थ भाव में होने से आप में अचानक अत्यधिक भावुकता देखी जा सकती है। साथ ही इस समय आपके पारिवारिक और पेशेवर जीवन में भी उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी रहेगी। दिलों-दिमाग़ में हर वक़्त नए-नए विचारों का सैलाब उमड़ता रहेगा जिससे आप खुद को अपने काम के प्रति केंद्रित कर पाने में असफल होंगे और आपका किसी भी काम में मन नहीं लगेगा। सप्ताहांत में चंद्र का गोचर पंचम भाव में होने पर आपकी सुख-सुविधाओं में वृद्धि होगी। इस समय आपको अपने प्रेम संबंधों में भी भरपूर सफलता मिलेगी, साथ ही साथी संग रोमांस का मौका भी आप ढूढ़ते नज़र आएंगे। दांपत्य जातकों की संतान पक्ष के लिए समय अनुकूल साबित होगा। हालांकि इस राशि के छात्रों को पढ़ाई-लिखाई में एकाग्रता की कमी से कुछ समस्या से दो-चार होना पड़ सकता है। धन लाभ के लिए भी समय बेहद उत्तम कह सकते हैं। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपकी राशि से एकादश भाव में हो रहा है वहीं बुध देव भी आपके इसी भाव में इस सप्ताह अपना गोचर करेंगे जिससे आपको अपने जीवन साथी के माध्यम से कोई बड़ा लाभ होगा और आप धन हासिल कर पाने में सफल होंगे। इस गोचर काल के समय आप अपने मित्रों के साथ समय बिताना चाहेंगे जिसमें आपको भरपूर मौका भी मिलेगा। यदि विदेशी संपर्कों से कोई फायदा चाहते थे तो इस वक़्त आपको वहां से किसी प्रकार की कोई मदद मिल सकती है। जिससे आपको अचानक से धन लाभ का योग बनता दिखाई देगा।

धनु राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपकी ही राशि यानि आपके प्रथम भाव में होगा और इसके बाद आपकी राशि से द्वितीय, तृतीय और चतुर्थ भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर भी इस सप्ताह आपकी राशि से दशम भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से लग्न भाव में गोचर करेंगे, उस वक़्त आपको मानसिक तनाव होने से स्वास्थ्य कमजोर की शिकायत रहेगी। मानसिक परेशानी होने से निराशा का भाव इस वक़्त आपके मन में हमेशा रहेगा, जिसके चलते आप अपने दांपत्य जीवन का भी आनंद उठा नहीं पाएंगे और उसमें नीरसता साफ़ देखी जायेगी। चंद्र का गोचर द्वितीय भाव में होने से आपकी अच्छी सोच के चलते परिवार के बीच आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। जिससे पारिवारिक जीवन में सुख शांति की अनुभूति होगी और आपको अच्छे-अच्छे अपनी पसंद के भोजन करने का अवसर मिलेगा। इस समय आपके लिए अप्रत्याशित धन प्राप्ति के योग बनेंगे जिससे आर्थिक वृद्धि होगी। चंद्र का गोचर तृतीय भाव में होने से कुछ परेशानी आ सकती है। इस दौरान आपके अपने पिता से संबंध खराब हो सकते हैं, इसलिए इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखें। साथ ही उनका स्वास्थ्य भी बिगड़ सकता है। यदि यात्रा पर जाना पड़े तो थोड़ा सतर्क रहें क्योंकि यात्राओं के दौरान समस्या हो सकती हैं। ऐसे में मुमकिन हो तो इस यात्रा को टाल दें। इस समय आपको अपने छोटे भाई-बहनों से संबंधों पर भी ध्यान देने की ज़रूरत होगी। अंत में जब चंद्र का गोचर चतुर्थ भाव में होगा तो आपको अपनी मां का प्यार मिलेगा और आपकी माता आप पर अपना स्नेह जताएगी आप भी अपनी माता के साथ समय बिताना पसंद करेंगे। इस वक़्त आपको अपने निजी जीवन में खुशहाली का एहसास होगा और ऐसे में आपको घर पर रहना ही सबसे ज्यादा सुकून देगा। घर पर रहते हुए आप अन्य घरेलू कामकाज पर ध्यान देंगे। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपकी राशि से दशम भाव में हो रहा है वहीं बुध देव भी आपके इसी भाव में इस सप्ताह अपना गोचर करेंगे जिससे जीवन के कई पाठ इस वक़्त सीखने का मौका मिलेगा। आपको इस वक़्त अपनी गॉसिप की आदत को बदलने की ज़रूरत होगी अन्यथा ये आदत आपको किसी मुसीबत में डाल सकती है। ये समय आपकी निजी और पेशेवर जिंदगी के लिए अच्छा रहेगा क्योंकि योग बन रहे हैं कि इस वक़्त आपको पद में वृद्धि मिल सकती है, जिससे आपकी निजी जिंदगी भी पटरी पर या तो वापस लौट आयेगी या रफ़्तार पकड़ लेगी।

मकर राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपकी राशि से द्वादश भाव में विराजमान होंगे और उसके बाद आपके प्रथम यानी आपकी राशि में आ जाएंगे फिर आपकी राशि से द्वितीय और तृतीय भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर भी इस सप्ताह आपकी राशि से नवम भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से द्वादश भाव में गोचर करेंगे, उस वक़्त आपको घर पर खान-पान का ध्यान रखना होगा क्योंकि इस वक़्त संभावना है कि आप स्वयं तो बीमार पड़ ही सकते हैं साथ ही आपके जीवन साथी को भी स्वास्थ्य कष्ट हो सकता है, जिससे हॉस्पिटल जाने तक की नौबत आ सकती है। इस वक़्त आपके ख़र्चों में अप्रत्याशित वृद्धि देखने को मिलेगी। इस वक़्त आपको अपने विरोधी पक्ष से सावधान रहना होगा क्योंकि वो आपको परेशान कर सकते हैं। हालांकि विदेशी संपर्कों से व्यापारियों को अपने व्यापार में अच्छा लाभ मिलेगा। इसके बाद जब चंद्र देव आपकी ही राशि में यानि आपके लग्न भाव में गोचर कर जाएंगे तो आपका मानसिक तनाव थोड़ा कम हो सकता है। आपको अपने दांपत्य जीवन में खुशी की अनुभूति होगी। शत्रु पक्ष भी शांत हो जाएंगे क्योंकि आप उनपर भारी होंगे। इस वक़्त मित्रों और करीबियों के सहयोग से धन लाभ हो सकता है। वहीं कार्य क्षेत्र के लिए भी ये समय बेहद अनुकूल है। सप्ताह के मध्य में चंद्र का गोचर द्वितीय भाव में होने से पारिवारिक जीवन में कुछ हलचल रह सकती है। हालांकि धन के मामले में ये समय भाग्यवान साबित होने वाला है, लेकिन यदि आप ससुराल पक्ष के लोगों से मिले तो कोशिश करें कि किसी भी तरह की विवाद की स्थिति न उत्पन्न हो पाए क्योंकि संभावना है कि आपकी उनसे नोक-झोंक हो। इस वक़्त आपके स्वास्थ्य में भी उतार-चढ़ाव देखने को मिलेगा। सप्ताह के अंत में चंद्र का गोचर तृतीय भाव में होने से आप जिस कार्य को मन न लगने के अभाव में पूरा नहीं कर पा रहे थे उसे अब पूरा कर पाएंगे। साथ ही आप अपने प्रयासों से जीवन साथी को लाभ पहुँचाने में मदद करेंगे। यात्रा पर जाना हो सकता है जिससे आपको अच्छे अनुभव प्राप्त होंगे। आपके मान-सम्मान में बढ़ोतरी साफ़ देखी जायेगी। कुल मिलाकर कहें तो आप इस समय को अच्छी तरह एंजॉय करेंगे। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपकी राशि से नवम भाव में हो रहा है वहीं बुध देव भी आपके इसी भाव में इस सप्ताह अपना गोचर करेंगे जिससे आपके भाग्य में वृद्धि होगी। साथ ही आपके सहयोग से आपके पिता जी को सफलता मिल पाएगी। जिससे आपको समाज में अपनी छवि मजबूत करने का मौका मिलेगा। साथ ही ये समय धन के मामले में भी आपको भाग्य का भरपूर सहयोग दिलाएगा।

कुम्भ राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपकी से एकादश भाव में विराजमान होंगे और उसके बाद आपके द्वादश, प्रथम यानी लग्न और फिर आपकी राशि से द्वितीय भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर भी इस सप्ताह आपकी राशि से अष्टम भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से एकादश भाव में होगा उस वक़्त आपको अपनी आमदनी में वृद्धि महसूस होगी। इस वक़्त आपको अपने प्रयासों में कोई कमी नहीं लानी होगी तभी सफलता मिलेगी। हालांकि ये समय आपको बड़े भाई-बहनों से किसी भी तरह का विवाद नहीं करना होगा अन्यथा वो विवाद झगड़े का रूप ले सकता है। साथ ही कार्य स्थल पर भी आपको अपने वरिष्ठ अधिकारियों से परेशानी हो सकती है, जिससे तनाव रहेगा, इसलिए ध्यान से रहें। चंद्र का गोचर द्वादश भाव में होने से दांपत्य जीवन में संतान को स्वास्थ्य संबंधित कुछ कष्ट हो सकते हैं जिससे आपका धन भी अच्छा-ख़ासा ख़र्च होगा। विरोधियों से सावधान रहें वो इस वक़्त आप पर हावी हो सकते हैं। इस वक़्त किसी भी गैर-कानूनी मामले से खुद को दूर रखें अन्यथा मामला कोर्टहरी तक पहुँ कचच सकता है, जो आपके लिए अच्छा नहीं होगा। सप्ताह मध्य में चंद्र का गोचर प्रथम भाव में होने से आप पर किसी कारण वश कर्ज बढ़ने की संभावना है। जिससे आपके मन में चल रही बेचैनी आपके चेहरे पर साफ़ देखी जायेगी। इससे आपका दांपत्य जीवन भी प्रभावित रहेगा और उसमें तनाव बढ़ेगा। हालांकि कार्य क्षेत्र के लिए समय अच्छा रहने की उम्मीद हैं, उसमें आपको सफलता मिल सकती हैं। सप्ताहांत में चंद्र का गोचर द्वितीय भाव में होने से धन और आर्थिक मामलों में आप अत्यंत भाग्यशाली हो जाएंगे, क्योंकि धन लाभ का प्रबल योग दिखाई दे रहा है। इस समय अगर ज़रूरत पड़ने पर किसी से वाद विवाद भी करना हो तो घबराए नहीं उससे आपको ही लाभ मिलेगा। पारिवारिक जीवन के लिए भी स्थितियाँ अनुकूल हैं। इस समय आपको अच्छे-अच्छे पकवान खाने का मौका मिल सकता है। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपकी राशि से अष्टम भाव में हो रहा है वहीं बुध देव भी आपके इसी भाव में इस सप्ताह अपना गोचर करेंगे जिससे आप में वासनात्मक विचारों की अधिकता आएगी लेकिन आपको इस दौरान मर्यादित आचरण ही करना होगा। हालांकि आप अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए इस ओर गुपचुप तरीके से खर्चे कर सकते हैं। ऐसे में आपको ये बात समझने की ज़रूरत होगी कि ऐसा कोई भी काम न करें जिससे आपकी छवि को नुकसान पहुंचे। हालांकि इस दौरान आपको लगातार धन की प्राप्ति होती रहेगी।

मीन राशि का साप्ताहिक राशिफल (9 सितम्बर से 15 सितम्बर)

इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपकी राशि से सबसे पहले दशम भाव में विराजमान होंगे और उसके बाद आपके एकादश,द्वादश और प्रथम यानी लग्न भावों में गोचर करेगा। इसके साथ ही शुक्र और बुध ग्रह का गोचर भी इस सप्ताह आपकी राशि से सप्तम भाव में होने वाला है। सप्ताह की शुरुआत में जिस वक़्त चंद्र देव आपकी राशि से दशम भाव में होंगे उस वक़्त आपको अपने कार्य क्षेत्र में उतार चढ़ाव जैसे स्थितियों से दो-चार होना पड़ सकता है। इस समय आपका मन थोड़ा विचलित दिखाई देगा, जिससे आप किसी भी काम में मन नहीं लगा पाएंगे। ये बेचैनी आपके पारिवारिक जीवन में परेशानी का सबक बनेगी और आप अपने प्रयासों में असफलता महसूस करेंगे। इसके बाद चंद्र का गोचर एकादश भाव में होने से कुछ हद तक स्थिति में सुधार आएगा। दांपत्य जीवन में बहुत खुशहाली देखी जाएगी क्योंकि आपकी संतान को मनोनुकूल सफलता प्राप्त होगी। छात्र भी इस समय अपनी विभिन्न-विभिन्न शिक्षा के क्षेत्र में अपना अच्छा प्रदर्शन दें पाएंगे, जिससे सफलता उनके कदम चूमेगी। आपकी कई महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति होगी। चंद्र का गोचर द्वादश भाव में होने से आपको किसी यात्रा पर ख़ास तौर से यदि आप शिक्षा के लिए विदेश जाने की योजना बना रहे थे तो इस समय वहां जाने का मौका मिल सकता है। जिसके चलते इसी संदर्भ में आपके खर्चें होंगे। हालांकि इस दौरान आपके खर्चे नियंत्रण में रहेंगे और आप अपने विरोधियों पर भी भारी पड़ेंगे। यदि आपका कोई मामला कोर्ट कचहरी के चल रहा था तो उसका परिणाम आपके पक्ष में आने की संभावना है। अंत में जब चंद्र देव आपकी राशि के प्रथम भाव यानी लग्न भाव में गोचर कर जाएंगे तो इससे आपको दांपत्य जीवन का सुख मिलेगा क्योंकि संतान का आपके प्रति लगाव और स्नेह आपके हर तनाव को दूर कर देगा। छात्रों को भी इस समय शिक्षा में लाभ मिलेगा। इन सकारात्मक बदलावों से आपको मानसिक रूप से प्रसन्नता की अनुभूति होगी। कुल मिलकर कहें तो ये समय आपके दांपत्य जीवन के लिए अच्छा साबित होगा। इसके अलावा जहाँ इस सप्ताह शुक्र देव का गोचर आपकी राशि से सप्तम भाव में हो रहा है वहीं बुध देव भी आपके इसी भाव में इस सप्ताह अपना गोचर करेंगे जिससे आपको अपने व्यापार में उन्नति हासिल होगी। नौकरी पेशा लोगों को भी इस समय नौकरी के क्षेत्र में किसी पदोन्नति मिलने की संभावना है। आपके दांपत्य जीवन में भी ख़ुशियाँ आएँगी। आप इस समय अपने जीवन साथी के साथ रोमांटिक पल बिताने का मौका ढूढ़ते नज़र आएँगे। या मुमकिन है कि आप उनके साथ कहीं घूमने की योजना बनाए।